जहां ज्यादा पेड़ , वहां ज्यादा बारिश क्यों ?


 

जहां ज्यादा पेड़ , वहां ज्यादा बारिश क्यों ?


 प्रकाश संश्लेषण ( Photo synthesis ) की प्रक्रिया में कार्बन डाई ऑक्साइड लेने और ऑक्सीजन बाहर निकालने के दौरान पेड़ों और उनकी पत्तियों में मौजूद पानी वाष्प यानी भाप बनकर उड़ता रहता है , लेकिन यह प्रक्रिया हमें दिखाई नहीं देती । तेज गर्मी पड़ने पर समुद्र , नदी , झील का पानी सूर्य की तपिश से वाष्प बनकर उड़ जाता है । इसी वाष्पीकरण के कारण आसमान में बादल बनते हैं । उन बादलों में पेड़ों से वाष्प बनकर उड़ने वाला पानी भी मिल जाता है । इससे बादल भारी हो जाते हैं और बरस पड़ते हैं , इसीलिए जिस स्थान पर पेड़ ज्यादा होते हैं , वहां पानी ज्यादा बरसता है । राजस्थान में पेड़ों की कमी है , इसलिए वहां बादल तो बनकर उड़ते हैं , लेकिन अक्सर पेड़ों द्वारा वाष्पीकरण की प्रक्रिया पूरी नहीं होने के चलते बादल भारी नहीं होते और हवा के साथ आगे निकल जाते हैं । माना भी जाता है कि जितने घने जंगल होते हैं , वहां उतनी ज्यादा बारिश होती है।


इन्फॉर्मेशन अच्छी लगी हो तो इस post को जरूर शेर करे। शेर करने से मोटिवेशन मिलता है। 

Post a Comment

0 Comments