घोंघा Snail. Fact about Snail. Hindi facts.

घोंघा Snail. Fact about Snail.

घोंघा Snail. Fact about Snail. Amazing fact.

 

 घोंघा एक नरम जीव है। उसका शरीर नरम होता है। गूंगे की लगभग 85,000 प्रजाति अस्तित्व में है. उसकी कितनी प्रजाति जमीन और कुछ मीठे पानी मे रहते है। घोंघा उसके शरीर और कद के रचना पर ही नहीं पर उसके वर्तन और रहने पर भी विविधता देखने को मिलते है। वो जमीन पर, ज्यादातर पेड़ और मोटे पत्ते पर देखे जाते है। और नदी और तालाब में भी पाए जाते है।

घोंघा दुनिया के हर जगहों पर पाए जाने वाला जीव है। उसके नरम शरीर के ऊपर कड़क चिकना कवच होता है जो शंख और गोलाकार होता है। जब उसको भय की शंका होता है तो अपने शरीर को शंख में छुपा लेता है। वो रात में घूमने वाले जीव है। उसके चलने की गति बहोत धीमी होती है। उसकी गिनती दुनियां की धीमी चलने वाली जीवो में होती है। घोंघे अपने जीभ के जरिये अपने भोजन को छोटे छोटे टुकड़े कर के खाते है। उसके जीभ को रेडूला कहते है।

घोंघे के मुख में जीभ के अलावा असंख्य छोटे छोटे दांत होते है। इसका जीवनकाल 10 साल के होते है। उसके माथे पे ऐंटेना जैसा होता है। उसको टेंटेकल कहते है। और टेंटेकल के ऊपर ही उसके आंख होते है। टेंटेकल के अंदर ही सूंघने की क्षमता होती है। वो ज्यादातर फूल और पत्ते खाते है। घीमी गति वाले जीवों की शिकार भी ज्यादा होते है। साप, मेंढ़क, पक्षी उसका शिकार कर के खा जाते हैं। पानी के अंदर रहने वाले घोंघे को सास बार बार उसको किनारे आना पड़ता है। उसके शंख का उपयोग लोग अपने घर को सजाने के लिए करते है।


About Chilly

आम तौर पे आप लोगो को 2 ही मिर्च के बारेमे पता होगा। एक कम तीखा ओर दूसरा जिसकी तिखास बहोत ज्यादा होती है। पर मिर्च की 3000 से ज्यादा जाती है।

मिर्च में कैप्सेसिन नाम का द्रव्य होता है जिसका ना तो रंग होता है नही स्मेल, पर स्वाद में तीखा होता है।

मिर्च के अंदर की तिखास जानने के लिए स्कोविल स्केल से मापा जाता है कि मिर्च की तिखास कितना स्कोविल यूनिट है।
भूत झोलकिया मिर्च विश्व की सबसे ज्यादा तीखा मिर्च है जो आसाम में पाया जाता है। जिसकी तिखास 1 लाख स्कोविल यूनिट से भी ज्यादा है।

हम जो मीच घर मे खाने बनाने के लिए उपयोग करते है जिसकी तिखास 3 से 4 हजार स्कोविल यूनिट होता है।
ट्रीनीडाड स्कॉर्पियन मिर्च विश्वमे दूसरे नम्बर का तीखा मिर्च है। चॉकलेट हबालोकिया, डोरसेट नाग, सेबन पोट हबानेरो, नागा वाइपर ये सब मीच की तिखास आम मिर्च से ज्यादा है।
100 से 1000 स्कोविल यूनिट वाले जो मिर्च होते है वो कम तीखे होते है।

मिर्च खाने के बाद तीखा लगे तो दूध पीने से मिर्च का
केप्सेसिन पिघल जाता है। ओर तीखापन धीरे धीरे खत्म हो जाता है।

Post a Comment

0 Comments